फ़िरोज़ाबाद :- दरसल पूरा मामला सुहागनगरी फिरोजाबाद के प्राइवेट ट्रामा सेंटर से जुड़ा हुआ है जहां गांव गाजीपुर के स्थानीय निवासी श्लोक भारद्वाज अपने भतीजे को दवा दिलवाने के लिए प्राइवेट ट्रामा सेंटर लेकर गए जहां से बकायदा बिल काटकर एक्सपायर डेट की दवा दे दी गई जब इसका विरोध पीड़ित ने किया तो उसे धमकाकर बैरंग लौटा दिया आप खुद देखिए सुहाग नगरी फिरोजाबाद में किस तरह से प्राइवेट ट्रामा सेंटर आम जनमानस की जान माल से खिलवाड़ करने में लगा हुआ है ।

जनपद फिरोजाबाद में वैसे तो स्वास्थ्य व्यवस्थाये वेंटिलेटर पर हैं आए दिन झोलाछाप डॉक्टरों का कहर मरीजों पर देखने को मिलता है लेकिन आज का मामला कुछ हटकर है गांव गाजीपुर निवासी श्लोक भारद्वाज अपने भतीजे को दवा दिलवाने के लिए प्राइवेट ट्रामा सेंटर लेकर गए जहां डॉक्टर द्वारा पर्चा लिखा गया और उस पर्चे से ट्रामा सेंटर से जो दवा मिली वह एक्सपायर थी जब एक्सपायर दवा को देखकर पीड़ित श्लोक भारद्वाज ने इसकी शिकायत डॉक्टर से की तो इस पर डॉक्टर ने उल्टा पीड़ित को फटकार लगाते हुए वापस भेज दिया इस पूरे वाकए को लेकर हमने फोन लगाया सीएमओ नीता कुलश्रेष्ठ को जिन्होंने मीटिंग का हवाला दिया

जिसके बाद हमने बात की एसीएमओ विनोद कुमार से जिन्होंने कहा कि यह मामला हमारे अंडर में नहीं आता इसको ड्रग इंस्पेक्टर डील करते हैं तो आप खुद समझ सकते हैं कि एक दूसरे पर केवल और केवल टाला मटोली करते हुए सीधे तौर पर फिरोजाबाद में जनता की जान के साथ खिलवाड़ जारी है एक्सपायर डेट की दवाएं धड़ल्ले से बेची जा रही हैं और स्वास्थ्य विभाग कुंभकरण की नींद सोया हुआ है जिसके कानों पर जूं नहीं रेंगती है तो आखिरकार कौन लेगा संज्ञान और कब होगी कार्रवाई? यह कहना फिलहाल मुश्किल है ।

error: Content is protected !!